KnowledgeBase


    कृषि-कार्य में प्रयुक्त कुछ कुमाऊँनी शब्द और अर्थ

    oan diwas


    झाल =झाड़ी ,लता और बेल आदि का घेरा,फैली हुई बेल "गदुव क झाल "

    हौव=हल, कुहरा,हौल का ग्रामीण उच्चारण

    दन्याव=निराई का काम करने वाला विशेष हल,

    कुटेइ=गौड़ने के लिए काम आने वाली कुदाली

    दातेइ=बड़ी दरांती /

    नस्युडृ=हल के लिए ज़मींन चीरने के लिए बनाया गया लकड़ी का यंत्र

    खुरपि,=घास-फूस निकलने का उपकरण

    पचार=लकड़ी की नुकीली शलाख

    पल्ट=सामूहिक कृषि कार्य

    पै'च,=उधार की अति प्राचीन परंपरा जिसमे जो चीज़ उधर ली गयी वही लौटाई जाती है कोई ब्याज नहीं दिया जाता

    बल्द=बैल

    जू,=बैलों के कंधे पर रखने वाला जुआ

    फाव=हल का फल

    हत्यूड़,=दूध दूने के लिए पशु के थनों को मुलायम करना

    मुकसार =फसल काटने के बाद खेतो में पशुओं को हरा चारा खिलाना

    नाड़= चमड़े का वह फीता जो हल और जुए को जोड़ने के काम आता है

    जव =जौ का अन्न ,रबी की फसल का एक अनाज

    दातूलि=छोटी दरांती,हंसिया जिसका प्रयोग घास या फसल कटाई के लिए होता है

    घटिगाड़ या धटिगाड़ =पनघट वाली नदी,वह नदी जिससे पनचक्की चलाने के लिए नहर निकली गयी हो

    पगुरौण =दूध दुहने के लिए गाय,भैंस को प्रेरित करना


    Leave A Comment ?